Published On: Sat, Aug 3rd, 2019

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता को एमपी में बसने का न्यौता: प्रदेश की बेटी बना कर रखेंगे, सुरक्षा-शिक्षा देंगे और कराएंगे बेहतर इलाज


भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आज उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता, उसकी मां और उसके परिजनों को मध्यप्रदेश आकर बसने का सुझाव दिया है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार पीड़िता के पूरे परिवार को संपूर्ण सुरक्षा प्रदान करेगी और घायल बच्ची का बेहतर इलाज कराएगी। सीएम ने कहा कि उसकी संपूर्ण शिक्षा की जिम्मेदारी भी हम निभाएंगे और बिटिया का प्रदेश की बेटी की तरह ख्याल रखेंगे।
उत्तरप्रदेश के उन्नाव की इस घटना की पीड़िता के मामले में 45 दिन के भीतर ट्रायल खत्म करने और सभी केस दिल्ली ट्रांसफर करने संबंधी सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्वागतयोग्य बताया है। मुख्यमंत्री ने उत्तरप्रदेश को असुरक्षित मान कर दिल्ली बसने संबंधी पीड़िता की मां के बयान पर कहा कि वे यदि यूपी छोड़ने का निर्णय ले चुकी हैं तो मैं उनसे और उनके परिजनों से अपील करता हूं कि वे सभई मध्यप्रदेश आकर बसने का निर्णय लें। यहां उन्हें किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं होने दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पीड़ित लड़की का अच्छे से अच्छा उपचार कराने के साथ ही उसकी शिक्षा का पूरा प्रबंध राज्य सरकार करेगी। परिवार को भी पूरी सुरक्षा उपलब्ध कराई जाएगी। कमल नाथ ने कहा कि इस मामले में चल रहे प्रकरण के दिल्ली ट्रांसफर होने पर केस से जुड़े परिजनों के दिल्ली आने-जाने की संपूर्ण व्यवस्था भी की जाएगी।
भाजपा विधायक है मामले का आरोपी
उन्नाव की दुष्कर्म पीड़िता के मामले में मुख्य आरोपी भाजपा का विधायक कुलदीप सेंगर है, जिसे सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस मामले में दखल देने के बाद अब जाकर पार्टी से निकाला किया गया है। वर्ष 2017 के इस मामले में सेंगर फिलहाल जेल में है। वहीं 28 जुलाई को परिवार के साथ रायबरेली जा रही पीड़िता की कार को एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी, जिसमें उसकी चाची और मौसी की मौत हो गई थी और पीड़िता गंभीर और उसका वकील गंभीर रुप से घायल हो गए थे। फिलहाल वो वेंटीलेटर पर है। उसके परिजनों द्वारा इस एक्सीडेंट को भी विधायक का षड्यंत्र बताया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने एक्सीडेंट की जांच सात दिन में करने के निर्देश दिए हैं।

Spread the love

About the Author

Leave a comment

You must be Logged in to post comment.