Published On: Tue, Jan 1st, 2019

कमलनाथ सरकार ने 14साल पुरानी परम्परा को किया बंद, साल के पहले दिन नहीं हुआ वन्देमातरम का गायन

Share This
Tags

भोपाल। कमलनाथ  सरकार ने आते ही राज्य मंत्रालय के सामने 14 साल से चली आ रही वंदेमातरम् गायन की परंपरा आज भंग हो गई। नए साल के पहले दिन मंत्रालय के सामने पुलिस बैंड की मौजूदगी में सामूहिक तौर राष्ट्रगीत गायन नहीं हुआ। जबकि मौसम की परवाह किए बिना हर महीने की पहली तारीख को यह आयोजन दिसंबर 2018 तक होता रहा है।
प्रदेश में नई सरकार बनने और आज नए मुख्य सचिव एस.आर. मोहंती के पदभार ग्रहण के साथ कर्मचारियों को उम्मीद थी कि मुख्यमंत्री कमलनाथ और सीएस वंदेमातरम् में मौजूद हो सकते हैं, लेकिन हर माह इस सामूहिक कार्यक्रम के लिए आदेश निकालने वाले सामान्य प्रशासन विभाग ने इस बार इस कार्यक्रम को लेकर कोई निर्देश ही जारी नहीं किए, जिसके चलते आयोजन नहीं हो सका। यह और बात है कि मंत्रालय में कई स्थान पर हर माह की पहली तारीख को इसमें सभी कर्मचारियों की उपस्थिति के बोर्ड लगे हुए हैं। आज न तो पुलिस का बैंड राष्ट्रीय धुन बजाने यहां पहुंचा और न ही वंदेमातरम् गायन समूह के सदस्य। कुछ अधिकारी-कर्मचारी जरूर हर माह की तरह सुबह मंत्रालय के सामने स्थित वल्लभभाई पटेल पार्क में इस आयोजन में भागीदारी के लिए पहुंचे तो उन्हें बैरंग लौटना पड़ा। मंत्रालय सूत्रों के अनुसार नई सरकार ने इस आयोजन को लेकर कोई निर्देश नहीं दिए तो सामान्य प्रशासन विभाग ने भी इससे किनारा कर लिया और एक जनवरी को होने वाले समूह गायन को लेकर न तो कर्मचारियों की उपस्थिति के आदेश जारी किए और न ही पुलिस बैंड के लिए पत्र लिखा। यह आयोजन क्यों नहीं हुआ और अगले माह होगा या नहीं इस बारे में जीएडी के अफसर कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। आशंका जताई जा रही है कि बाबूलाल गौर के मुख्यमंत्रित्वकाल में जून 2005 से शुरू हुई इस परंपरा को अब किया जाएगा।

About the Author

Leave a comment

You must be Logged in to post comment.