Published On: Sun, Jul 1st, 2018

बुराड़ी में एक ही घर में 11 शव मिलने से सनसनी

Share This
Tags

उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी के संतनगर इलाके में एक घर से एकसाथ 11 शव मिलने से सनसनी फैल गई है। बरामद किए गए शव सात महिलाओं और चार पुरुषों के हैं और सभी फांसी के फंदे पर लटके मिले। उनमें दो नाबालिग भी शामिल हैं।कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि बुजुर्ग महिला की गला दबाकर हत्या की गई है। महिला के गले पर निशान मिले हैं। इस खुलासे के बाद माना जा रहा है कि यह हत्या का मामला हो सकता है। फिलहाल पुलिस,क्राइम ब्रांच और फोरेंसिक टीम घटनास्थल पर मौजूद है और वहां सबूत इकट्ठे कर रही है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मौके पर पहुंच घटना की जानकारी ली। पुलिस से घटना संबंधी जानकारी लेने के बाद सीएम केजरीवाल ने मीडिया से भी बात की उन्होंने कहा कि यह बहुत बड़ी घटना ही है। पुलिस इस मामले की खोजबीन में लगी है।

एक ही घर से बरामद हुए शव –

सभी शव एक ही घर से बरामद हुए हैं। मामला उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी के संत नगर इलाके का है। बरामद किए गए शव सात महिलाओं और चार पुरुषों के हैं। जानकारी के मुताबिक, दो परिवारों के कुल 11 लोग एक ही घर में फांसी के फंदे पर लटके मिले। बताया जा रहा है कि फंदे पर लटके 10 शवों के आंखों पर पट्टी बंधी थी, जबकि एक शव जमीन पर पड़ा हुआ था।

मृतकों में तीन नाबालिग शामिल –

पुलिस के जॉइंट सीपी ने कहा कि मृतकों में तीन नाबालिग भी शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि 11 लोगों के परिवार में दो भाई और उनकी पत्नियां थीं। दो लड़के करीब 16 से 17 साल के थे। मृतकों में एक बुजुर्ग मां और बहनें शामिल हैं। पुलिस के बताया कि 10 लोग फंदे से लटके मिले हैं जबकि एक बुजुर्ग महिला का गला दबाया हुआ है। 10 लोग जो फंदे से लटके मिले हैं वह सभी फर्स्ट फ्लोर पर मिले हैं।

पोस्टमार्टम के लिए भेजे गए शव –

जानकारी के मुताबिक पुलिस को सुबह साढ़े सात बजे शवों की सूचना मिली। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि यह सामूहिक हत्या का मामला है या सामूहिक आत्महत्या का। इस बीच मौके पर पहुंची पुलिस घटनास्थल का मुआयना कर रही है।

जानकारी के अनुसार सन्त नगर के गली नंबर दो में गोपाल (43) व ललित (40) दोनों भाई अपने परिवार के साथ रहते थे। परिवार में ललित के दो बेटे व पत्नी व गोपाल की पत्नी व तीन बच्चे , उनकी माँ, एक विधवा बहन प्रतिभा व उनकी बेटी प्रियंका बताई जा रही हैं। परिवार का प्लाइवुड का काम है।

रविवार सुबह करीब सात बजे पड़ोस में रहने वाले ताराचंद ने ललित को दूध लाने के लिये साथ चलने के लिए आवाज लगाई तो घर से किसी की आवाज नहीं आए तो वह अंदर जाकर देखा तो परिवार के लोगों के शव लटके हुए मिले। कुछ की आंखों पर पट्टी बंधी थी। 10 लोगों के शव छत की जाली से लटके थे जबकि एक महिला दूसरे कमरे में मृत मिली। इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई।

यह परिवार पिछले 20 साल से अधिक समय से यहां रह रहा है। पड़ोसी के अनुसार सभी अच्छे स्वभाव के थे। उनका कभी किसी से झगड़ा नहीं हुआ। माली हालत भी ठीक थी। कुछ दिन पहले ही गोपाल की भांजी सगाई भी हुई थी। ऐसे में पड़ोसियों को आत्महत्या करने की बात हजम नहीं हो रहा है।

परिवार धार्मिक प्रवृत्ति का था। ललित अक्सर धार्मिक बातें किया करता था। ऐसे लोगों यह विश्वास नहीं हो रहा है कि पूरे परिवार ने एक साथ खुदकशी की हो। उन्हें हत्या की आशंका लग रही है। पुलिस अभी जांच कर रही है।

About the Author

Leave a comment

You must be Logged in to post comment.