Published On: Fri, Feb 23rd, 2018

भूत-प्रेत होने का डर सताया, अब आत्माओ की शाति के लिए होगा पूजा-पाठ

Share This
Tags
    जयपुर  । एक तरफ सरकार अधविश्वास के खिलाफ अभियान चला रही है, वही दूसरी ओर विधायको  द्वारा उनके सदन मे  ही भूत प्रेत होने की बाते लाई जा रही है ।  राजस्थान के बीजेपी विधायको को इन दिनो भूतो  का डर सता रहा है। तीन उपचुनाव हारने और दो बीजेपी विधायको की मौत के बाद विधानसभा मे पिछले दो दिनो  से भूत-प्रेत, जिन्न, चुडैल और पिचाशो पर मथन चल रहा है। विधायको ने सूबे की  वसुधरा राजे के समक्ष आत्माओ की शाति के लिए हवन कराने और पडितो को भोजन कराने का प्रस्ताव रखा है। हदतो यह हो गई है कि तीन उप चुनावो मे  17 विधानसभा मे  बीजेपी को हार का सामना करना पडा है और एक बार फिर से सरकार जाने का खतरा सताने लगा है। ऐसे मे विधायक इन सबके लिए प्रेतात्माओ ́ को जिम्मेदार मान रहे है । ये विधायक कह रहे है  कि विधानसभा पर किसी प्रेतात्मा का साया है। विधायको ́ ने मुख् वसु धरा राजे से विधानसभा मे  पूजा-पाठ और हवन कराने के साथ-साथ ब्रह्मभोज कराने का प्रस्ताव रखा है। इस पर विधानसभा मे  बहस भी हुई है।
भाजपा विधायक अशरफी ने सबसे पहले रखा प्रस्ताव:
इस बाबत सबसे पहले प्रस्ताव नागौर से बीजेपी विधायक हबीबुर्रहमान अशरफी ने रखा। अशरफी ने कहा कि मै ́ने इसलिए यह मुद्दा
उठाया, €यो ́कि यहा ́ जो चल रहा है, वो ठीक नही  है। मै ́ भूत-प्रेत को मानता हू  और यहा  पूजा हुई, तो भूत निकलेगा। इसके बाद सभी विधायको  ने इस प्रस्ताव का स्वागत किया। सरेआम विधायक कह रहे है  कि कोई उपाय हुए, तो यहा  से भूत जरूर भागे ́गे। बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने तो यह तक कह दिया,कि यहा  पर कुछ न कुछ जरूर है। मै  भूत को मानता हू और मै ने भूत को देखा भी है।

About the Author

Leave a comment

You must be Logged in to post comment.