Published On: Tue, Dec 31st, 2013

शीतलहर का कहर पुरे उत्‍तर भारत में

Share This
Tags

नई दिल्‍ली/लखनऊ | पूरे उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप जारी है और कड़ाके की सर्दी के चलते आम लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। संपूर्ण उत्‍तर भारत में तापमान में जबर्दस्त गिरावट दर्ज की गई है और दिल्ली में दिसंबर का एक दशक का न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। वहीं श्रीनगर में मौसम की सबसे ठंडी रात रही।

जानकारी के अनुसार, मंगलवार को उत्‍तर भारत में मौसम का सबसे सर्द दिन दर्ज किया गया। दिल्ली में आज सुबह तापमान गिरकर 2.4 डिग्री तक पहुंच गया। दिल्‍ली में सोमवार शाम से रुक रुककर हो रही बारिश के चलते तापमान में गिरवट आई है। वहीं, एनसीआर में भी बारिश के चलते तापमान में गिरावट आई है। राष्‍ट्रीय राजधानी और एनसीआर में मंगलवार शाम तक ठंड और बढ़ने के आसार हैं।

वहीं, उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फनगर में पारा 0.3 डिग्री तक पहुंच गया है। बारिश और बर्फबारी के चलते जम्‍मू-श्रीनगर हाइवे बंद हो गया है। बीते दिन राजधानी दिल्ली में छिटपुट बौछारों ने ठंड का प्रकोप और बढ़ा दिया जबकि शहर में सुबह न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री दर्ज किया गया जो दिसम्बर के महीने में दशक का सबसे कम तापमान है। दिल्ली में सुबह तापमान गिरकर 2.4 डिग्री तक पहुंच गया जो सामान्य से 5 डिग्री सेल्सियस कम था। कोहरे की घनी चादर और ठंडी हवाओं के कारण शहर के लोग दिन के शुरुआती घंटों में ठंड से कांपते रहे।

उधर, जालंधर सहित पूरा पंजाब जबरदस्त ठंड की चपेट में है और ठिठुरन वाली सर्दी का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। इस बीच आदमपुर का तापमान आज शून्य के नीचे 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है जो पिछले पांच साल में सबसे कम है। वहीं, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और सूबे के अन्य जिलों में मंगलवार सुबह बादल छाए रहने की वजह से सर्दी में इजाफा हुआ है। राजधानी में भी ठंड ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले दिनों में तापमान में और गिरावट की संभावना है।

मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक सोमवार को पश्चिमी उप्र के कई इलाकों में हल्की बूंदाबांदी भी दर्ज की गई। आने वाले दिनों में शीतलहर का प्रकोप दिखाई देगा और कड़ाके की ठंड पड़ने का अनुमान है। मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि उत्तर-पश्चिम हवाओं के चलने से मौसम में अचानक बदलाव देखने को मिल रहा है और इसी वजह से कई जगहों पर तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विभाग के अनुसार मुजफ्फरनगर में पारा शून्य के करीब पहुंच गया है। यहां पारा 0.30 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

राजधानी लखनऊ का मंगलवार को न्यूनतम तापमान 3.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि अधिकतम तापमान 21 डिग्री के आसपास रहने का अनुमान है। राजधानी के अलावा वाराणसी का न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस, इलाहाबाद का 5.2 डिग्री, गोरखपुर का 3.1 डिग्री और कानपुर का 2.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पिछले 24 घंटों के दौरान मेरठ, वाराणसी, फैजाबाद, इलाहाबाद, कानपुर और बरेली मंडलों में रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग के मुताबिक रविवार रात इस वर्ष की सबसे सर्द रात रही जब तापमान सामान्य से छह डिग्री नीचे गिरकर 1.9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था।

उधर, मध्य प्रदेश का अधिकांश हिस्सा शीतलहर की गिरफ्त में है। बीते 24 घंटों के दौरान बूंदाबांदी के साथ चली सर्द हवाओं ने राज्य के बड़े हिस्से में ठंड में वृद्धि हुई है। मंगलवार को आसमान पर छाए बादलों के साथ धुंध व कोहरे से जनजीवन प्रभावित हुआ है। राज्य में मंगलवार सुबह राज्य के बड़े हिस्से में बादल छाए होने कारण धूप नहीं खिली। ठंड के तेवर और तल्ख हो गए हैं। कई हिस्सों में सोमवार को बूंदाबांदी के साथ चली सर्द हवाओं और बढ़े कोहरे से जनजीवन प्रभावित रहा। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि आगामी 24 घंटों में राज्य के पश्चिमी तथा उत्तर-पूर्वी हिस्से में बारिश हो सकती है। वहीं शेष हिस्सों में मौसम शुष्क रहेगा। इसके अलावा उत्तरी हिस्से में कोहरा छाने की संभावना जताई गई है।

Spread the love

About the Author

Leave a comment

You must be Logged in to post comment.