Published On: Tue, May 8th, 2018

MPBSE ने बढ़ाई परीक्षा फीस, अब 550 की बजाय लगेंगे 900 रुपए

Share This
Tags

भोपाल। मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) आगामी शिक्षण सत्र 2018-19 से विद्यार्थियों से परीक्षा शुल्क 61 फीसदी तक बढ़ा दिया है। अब माशिमं विद्यार्थियों से 550 रुपए के बदले 900 रुपए लेगा। इससे विद्यार्थियों पर अतिरिक्त बोझ बढ़ेगा। फीस वृद्धि से मंडल को हर साल अतिरिक्त 42 करोड़ रुपए का फायदा मिलेगा, जबकि अभी उन्हें 21 करोड़ रुपए सिर्फ फीस से मिलते थे।

इसके पीछे माशिमं का तर्क है कि बोर्ड के खर्चे बहुत बढ़ गए हैं और अन्य राज्यों के बोर्ड की तुलना में परीक्षा शुल्क कम है। दूसरे बोर्ड में लगभग 2 से 3 हजार रुपए परीक्षा शुल्क लगता है। हर साल 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा लगभग 20 लाख विद्यार्थी परीक्षा देते हैं। इनमें 12 लाख सामान्य परीक्षार्थी शामिल होते हैं, जिससे उन्हें 108 करोड़ रुपए सिर्फ परीक्षा शुल्क से मिलेगा। यह निर्णय मंडल में आयोजित कार्यपालिका समिति की बैठक में लिया गया है।

अब 108 करोड़ रुपए मिलेंगे

पहले 550 रुपए फीस वसूलने से बोर्ड को 66 करोड़ रुपए मिलते थे। वहीं, अब उन्हें 108 करोड़ रुपए मिलेंगे। इससे मंडल 42 करोड़ रुपए सिर्फ विद्यार्थियों की परीक्षा शुल्क से वसूल करेगा। इससे ग्रामीण व पिछड़े क्षेत्रों में रहने वाले विद्यार्थियों पर आर्थिक बोझ पड़ेगा।

हर साल करीब 20 लाख छात्र देते हैं परीक्षा

हर साल दसवीं और बारहवीं में करीब 20 लाख विद्यार्थी परीक्षा देते हैं और इतने ही परीक्षा फार्म भरते हैं। जिसमें करीब 12 लाख सामान्य विद्यार्थी होते हैं, जिनसे पूरा शुल्क लिया जाता है। इसमें एससी-एसटी समेत विकलांग परीक्षार्थियों के परीक्षा शुल्क में छूट दी जाती है।

खर्चे बढ़ गए हैं

मंडल के खर्चे बढ़ गए हैं, जिससे परीक्षा शुल्क बढ़ाने का निर्णय लिया गया। दूसरे राज्यों के बोर्ड से यहां का परीक्षा शुल्क कम है।

अजयसिंह गंगवार, सचिव, माशिमं

About the Author

Leave a comment

You must be Logged in to post comment.

वीडियो