Published On: Wed, Sep 18th, 2019

पिता के बचाव में उतरे जयवर्धन, कृष्ण और पौंड्रक की कहानी से मीडिया पर साधा निशाना


भोपाल। कमलनाथ सरकार में मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन ने अपने दाता (पिता) का पौराणिक आख्यान से बचाव किया है। जयवर्धन ने ट्वीट कर कहा है कि पौंड्रक के खिलाफ बोले गए शब्दों को भगवान श्री कृष्ण की तरफ मोड़ने की क्षमता के लिए लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ को सलाम !!! ये क्षमता समाज में ना जाने कितने पौंड्रको को जन्म दे रही है। बता दें कि पौंड्रक रुषदेश का राजा था उसके पिता का नाम वासुदेव था। दरबारियों ने इसी आधार पर उसे विष्णु अवतार और असली कृष्ण बता दिया। पौंड्रक भी कृष्ण की तरह वस्त्र धारण कर लकड़ी का चक्र लेकर घूमता था। उसने श्रीकृष्ण को बहरूपिया बताते हुए युद्ध की चुनौती दी। कृष्ण ने चुनौती स्वीकार कर अकेले ही उसका दो अक्षोहिणी सेना समेत संहार किया था।
जयवर्धन ने इसके साथ दो और ट्वीट कर दिग्विजय सिंह और अपने परिवार के सनातनधर्मी होने और उनकी धर्मप्रियता की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि- हमारे निवास पर सबसे ऊपर राघौजी (भगवान राम) भगवान विराजते हैं
उनके मंदिर पर फहरा रही भगवा ध्वजा हमारी संस्कृति दर्शाती है
गागरोन (राजस्थान) में हुए बलिदान और जौहर हमारे कुल की गौरव गाथा आज भी सुनाते है, हमारे पूर्वजों ने इस धर्म ध्वजा के कई बलिदान दिए है। लेकिन धर्म ध्वजा ( भगवा) का राजनीतिक उपयोग नही किया। जो कर रहे है उनके खिलाफ बोलो तो बयानों को तोड़िये, मरोड़िये और चलाइये। मूल भावना का कत्ल तभी तो होगा। धर्म का व्यापारीकरण और राजनीतिकरण तो सनातन धर्म कहाँ ले जा रहा ये भी तो समाज को बताइये। तो वहीं कांंंग्रे के वरिष्ठ नेेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कि हिन्दू संत हमारी सनातन आस्था के प्रतीक है इसलिए उनसे उच्चतम आचरण की अपेक्षा है। यदि संत वेश मेें कोई भी गलत आचरण करता है ,तो उसके खिलाफ आवाज़ उठनी ही चााहिए। सनातन धर्म जिसका मै स्वयं पालन करता हूँ। उसकी रक्षा की जिम्मेदारी भी हमारी है।

Spread the love

About the Author

Leave a comment

You must be Logged in to post comment.

Contact Us

  • Khabar Dhamaka
  • https://www.khabardhamaka.com
  • Madhya Pradesh Office –
  • Junior MIG-B-81 Rajeev Nagar, Bhopal M.P
  • Chattisgarh Office –
  • Editor – Manish Pathak
  • Office Contact No.- 9039938883
  • Email – khabardhamaka2@gmail.com